नियति पर कविताएँ

नियति शब्द भाग्य, दैव,

पूर्वकृत कर्मों का परिणाम आदि अर्थ देता है।

वह मेरी नियति थी

श्रीकांत वर्मा

महाभारत

अच्युतानंद मिश्र

इतिहासांत

कैलाश वाजपेयी

रोग

नवीन सागर

अपने ही बेटे को देखकर

कालीप्रसाद रिजाल

आत्मदया का क्षण

कैलाश वाजपेयी

अपनी-अपनी राह

रमाकांत रथ

परिचय-पत्र

सच्चिदानंद राउतराय

उपकथा

गोपालकृष्ण रथ

करो नहीं बलात्कार

प्रतिभा शतपथी

कवि का नसीब

गोपालकृष्ण रथ

प्रारब्ध

आग्नेय

आज़ादी का सूनापन

गोविंद निषाद

एक और ‘छोड़ना’

प्रियंका दुबे

अभिनेत्री

बी. गोपाल रेड्डी

नि:सत्व

स्मिता सिन्हा

भाग्य-रेखा

पंकज प्रखर

अमर

चंद्रकुमार

नियति

अजीत रायज़ादा

रास्ते का कुत्ता

नवारुण भट्टाचार्य

किराये का घर

ओ.एन.वी. कुरुप

पकड़

प्रेमजी प्रेम

क़साईबाड़े की ओर

हरीशचंद्र पांडे

दीप

कन्हैयालाल सेठिया

भाग्यरेखा

संजय शेफर्ड

रस्सी का फंदा

लनचेनबा मीतै

कथा

अरुण कमल

कौआ मर गया...

रमेश पारेख

ठूँठ और चोंच

अंबिका दत्त

प्राक्तन

बिप्लव चौधुरी

हाशिए पर आदमी

अजीत रायज़ादा

बूँद

कन्हैयालाल सेठिया

नियति

चंद्रकुमार

नियति का हाथ

ममता बारहठ

जीवन-राग/8

ब्रजरतन जोशी

शिलाएँ और तृण

कन्हैयालाल सेठिया

ख़ुश कौन था वहाँ पर

संजय चतुर्वेदी

ग़ायब हो जाना

वंदना पराशर

पतंगा

प्रतिभा शतपथी

सीपी

प्रतिभा शतपथी

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए