नमक पर कविताएँ

विविध प्रसंगों में लवण,

लावण्य और अश्रु के आशय को व्यक्त करती कविताओं से एक चयन।

जाना

अमित तिवारी

नमक

सारुल बागला

नमक पर यक़ीन ठीक नहीं

नवीन रांगियाल

नमक हराम

जितेंद्र श्रीवास्तव

नमक

विनोद दास

बा-वफ़ा

बाबुषा कोहली

नमक

अनामिका

नमक

विपिन चौधरी

नमक की तरह

शंकरानंद

नमक

वाज़दा ख़ान

नमक कमबख़्त

शिव कुमार गांधी

नमक

स्मिता सिन्हा

नानी की निमकी

पंखुरी सिन्हा

नमक

केशव तिवारी