भक्ति पर सवैया

भक्ति विषयक काव्य-रूपों

का संकलन।

वा मुख चंद के वै हैं चकोर

पंडित युगलकिशोर मिश्र

जग जीतनहार मनोज निहारि

पंडित युगलकिशोर मिश्र

गइ आइ दसो दिसि ते

गुरु गोविंद सिंह

देहु शिवा वर मोहि इहै

गुरु गोविंद सिंह

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए