दोहा संग्रह

चार चरणों का अर्द्धसम मात्रिक छंद। विषम चरणों में 13-13 और सम चरणों में 11-11 मात्राएँ। चरण के अंत में गुरु-लघु (ऽ।) अनिवार्य।

श्रेणीबद्ध करें