वेश्या पर कविताएँ

देह-व्यापार में संलग्न

व्यक्ति को वेश्या कहते हैं। आधुनिक समय में वेश्या के स्थान पर यौन-कर्मी शब्द प्रयोग करने का चलन है। यहाँ प्रस्तुत है—वेश्या विषयक कविताओं से एक चयन।

जाँघों के बीच

संदीप निर्भय

सोनागाछी का मतलब

जोशना बैनर्जी आडवानी

मुज़फ़्फ़रपुर

अखिलेश श्रीवास्तव

यौन दासियाँ

पंकज चौधरी

तवायफ़

उद्भ्रांत