Font by Mehr Nastaliq Web
Navneet Pandey's Photo'

नवनीत पांडे

1962 | चूरू, राजस्थान

हिंदी और राजस्थानी में निरतंर सृजन। कई पुस्तकें प्रकाशित। 'जब भी देह होती हूँ' नवीनतम कविता-संग्रह।

हिंदी और राजस्थानी में निरतंर सृजन। कई पुस्तकें प्रकाशित। 'जब भी देह होती हूँ' नवीनतम कविता-संग्रह।

नवनीत पांडे का परिचय

जन्म : 26/12/1962 | चूरू, राजस्थान

नवनीत पांडे का जन्म 26 दिसंबर 1962 को सादुलपुर (चुरू) राजस्थान में हुआ।

शिक्षा : एम. ए.(हिंदी), एम.कॉम.(व्यवसायिक प्रशासन), पत्रकारिता : जनसंचार में स्नातक। वह हिंदी और राजस्थानी दोनों में विगत पच्चीस बरसों से सृजनरत हैं। देश-प्रदेश की सभी प्रतिनिधि पत्र-पत्रिकाओं में उनकी रचनाओं का निरंतर प्रकाशन होता रहता है।

प्रकाशन : हिंदी में ‘सच के आस-पास’, ‘छूटे हुए संदर्भ’, ‘जैसे जिनके धनुष’, ‘सुनो मुक्तिबोध एवं अन्य कविताएँ’, ‘जब भी देह होती हूँ’ (कविता-संग्रह) ‘यह मैं ही हूँ’, ‘हमें तो मालूम न था’ (लघु नाटक) प्रकाशित। राजस्थानी में : ‘लुकमीचणी’, ‘लाडेसर’ (बाल कविताएँ), ‘माटीजूण’ (उपन्यास), ‘हेत रा रंग’ (कहानी-संग्रह) और महाश्वेता देवी के चर्चित बांग्ला उपन्यास ‘1084वें री मा’ का राजस्थानी में अनुवाद। 

पुरस्कार-सम्मान : ‘लाडेसर’ को राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादेमी का ‘जवाहर लाल नेहरू पुरस्कार’,  ‘सच के आस-पास’ को राजस्थान साहित्य अकादेमी का ‘सुमनेश जोशी पुरस्कार’, ‘यह मैं ही हूँ’ जवाहर कला केंद्र से पुरस्कृत होने के अलावा ‘राव बीकाजी संस्थान, बीकानेर’ द्वारा प्रदत्त सालाना साहित्य सम्मान।

संबंधित टैग

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए