Font by Mehr Nastaliq Web
noImage

रामगुलाम द्विवेदी

- 1831 | मिर्ज़ापुर, उत्तर प्रदेश

भक्त, कथावाचक और मानस-व्याख्याकार के रूप में प्रसिद्ध रीतिकालीन कवि। 'कवित्त रामायण' के रचनाकार।

भक्त, कथावाचक और मानस-व्याख्याकार के रूप में प्रसिद्ध रीतिकालीन कवि। 'कवित्त रामायण' के रचनाकार।

रामगुलाम द्विवेदी के कवित्त

3
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए