Bhuvaneshvar's Photo'

भुवनेश्वर

1910 - 1958 | शाहजहाँपुर, उत्तर प्रदेश

सुपरिचित कवि-कथाकार और नाटककार। जोखिमों से भरा बीहड़ जीवन जीने के लिए उल्लेखनीय।

सुपरिचित कवि-कथाकार और नाटककार। जोखिमों से भरा बीहड़ जीवन जीने के लिए उल्लेखनीय।

भुवनेश्वर की संपूर्ण रचनाएँ

कविता 2

 

गीत 1

 

अनुवाद 7

उद्धरण 26

स्त्री के लिए प्रेम का अर्थ है कि कोई उसे प्रेम करे।

  • शेयर

पुरुष और स्त्री की आत्माएँ दो विभिन्न पदार्थों की बनी हैं।

  • शेयर

स्त्री उन पुरुषों के साथ फ़्लर्ट करती है, जो उससे विवाह नहीं करते और उस पुरुष के साथ विवाह करती है, जो उसके साथ फ़्लर्ट नहीं करता।

  • शेयर

तीन दिन के वासना-प्रवाह में स्त्री बह जाती है और तीन वर्ष के एकांगी प्रेम पर वह एकांत में हँसती है।

  • शेयर

स्त्री आकाशकुसुम तोड़ ला सकती है, पर यह नहीं कह सकती है, ‘मैं अपराधी हूँ।’

  • शेयर

संबंधित ब्लॉग

 

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए