Font by Mehr Nastaliq Web

गांधीवाद पर दोहे

गांधीवाद महात्मा गांधी

के आदर्शों, आस्थाओं और जीवन-दर्शन पर आधारित विचारधारा है। इसका प्रभाव युगीन और परवर्ती काव्य पर भी परिलक्षित होता है।

गांधी-गुरु तें ग्याँन लै, चरखा-अनहद-ज़ोर।

भारत सबद-तरंग पै, बहत मुकति की ओर॥

दुलारेलाल भार्गव

झर-सम दीजै देस-हित, झर-झर जीवन-दान!

रुकि-रुकि यों चरखा-सरिस, दैबौ कहा सुजान॥

दुलारेलाल भार्गव

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए