noImage

सुमति गणि

समय : 13वीं सदी। जैन कवि। जैन धर्म-प्रचार के साथ-साथ काव्य में नीति निरूपण के लिए स्मरणीय।

समय : 13वीं सदी। जैन कवि। जैन धर्म-प्रचार के साथ-साथ काव्य में नीति निरूपण के लिए स्मरणीय।

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI