Font by Mehr Nastaliq Web
noImage

सरस्वती देवी

1875 | आज़मगढ़, उत्तर प्रदेश

परंपरागत आदर्श पर विशेष बल देने वाली भारतेंदु युग की कवयित्री।

परंपरागत आदर्श पर विशेष बल देने वाली भारतेंदु युग की कवयित्री।

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए