Mohan Rana's Photo'

मोहन राणा

1964 | दिल्ली

नवें दशक में सामने आए हिंदी कवि। पर्वतीय लोक-संवेदना के लिए उल्लेखनीय।

नवें दशक में सामने आए हिंदी कवि। पर्वतीय लोक-संवेदना के लिए उल्लेखनीय।

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए