Hemant Shesh's Photo'

हेमंत शेष

1952 | जयपुर, राजस्थान

सुपरिचित हिंदी कवि, कला-आलोचक, शौक़िया छायाकार, संपादक और चित्रकार।

सुपरिचित हिंदी कवि, कला-आलोचक, शौक़िया छायाकार, संपादक और चित्रकार।

हेमंत शेष का परिचय

जन्म : 28/12/1952 | जयपुर, राजस्थान

हेमंत शेष का जन्म 25 दिसम्बर 1952 को जयपुर, राजस्थान में एक संपन्न और शिक्षित परिवार में हुआ। पिता पेशे से वकील थे और कविताएँ लिखते थे। कविता-लेखन की प्रेरणा बचपन में पिता से ही मिली। राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर से समाजशास्त्र में स्नातकोत्तर की शिक्षा प्राप्त करने के साथ राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयनित हुए। 

प्रशासनिक सेवा के साथ और सेवानिवृत्ति के बाद से उनकी साहित्यिक-यात्रा अनवरत जारी रही है। हाल के वर्षों में प्रकाशित आधा दर्जन कृतियों के साथ उनकी 28 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हैं जिनमें 13 कविता-संग्रह शामिल हैं। उनकी कविता-यात्रा का आरंभ ‘जारी इतिहास के विरुद्ध’ (1973) शीर्षक लंबी-कविता के प्रकाशन के साथ हुआ। ‘घर-बाहर’, ‘वृक्षों के स्वप्न’, ‘नींद में मोहनजोदड़ो’, ‘अशुद्ध सारंग’, ‘कष्ट के लिए क्षमा’, ‘जगह जैसी जगह’ उनके प्रमुख काव्य-संग्रह हैं। उनके दो नए काव्य-संग्रह ‘प्रायश्चित्त-प्रवेशिका’ और ‘अफ़सोस दर्पण’ शीर्षक से 2018-19 में सामने आए हैं।

उनकी सक्रियता एक कला-आलोचक के रूप में भी रही है। इस क्रम में ‘सौंदर्यशास्त्र के प्रश्न’, ‘कला-विमर्श’, ‘भारतीय कला रूप’, ‘भारतीयता की धारणा’, ‘भारतीय रंगमंच’ आदि उनके संपादन में प्रकाशित कुछ प्रमुख कृतियाँ हैं। वह पेंटिंग्स और फ़ोटोग्राफ़ी में भी रुचि रखते हैं और इन क्षेत्रों में अपने मौलिक कार्य के लिए सराहे गए हैं।

‘जगह जैसी जगह’ काव्य-संग्रह के लिए उन्हें बिहारी सम्मान से पुरस्कृत किया गया। 

संबंधित टैग

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए