Anup Sethi's Photo'

‘जगत में मेला’ शीर्षक कविता-संग्रह के कवि। बतौर अनुवादक भी उल्लेखनीय।

‘जगत में मेला’ शीर्षक कविता-संग्रह के कवि। बतौर अनुवादक भी उल्लेखनीय।

अनूप सेठी का परिचय

अनूप सेठी का जन्म 20 जून, 1958 को हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर ज़िले के दरवैली गाँव में हुआ। आरंभिक शिक्षा-दीक्षा के बाद हिंदी में एम.ए. राजकीय महाविद्यालय धर्मशाला से और एम.फिल. गुरु नानक देव विश्वविद्यालय अमृतसर से किया। 1983 में आकाशवाणी विविध भारती में कार्यक्रम निष्पादक के पद पर नियुक्ति हुई जहाँ अनेक नाटकों, साक्षात्कारों, परिचर्चाओं और वार्ताओं का प्रस्तुतीकरण किया। बाद में फिर आईबीपीएस के हिंदी संकाय से बतौर प्राध्यापक संबद्ध हुए।

कविता-लेखन की शुरुआत छात्र-जीवन से हो गई थी और पत्रिकाओं में छपने लगे थे। कॉलेज में कविता लेखन और पाठ तथा नाटकों में अभिनय और निर्देशन के लिए पुरस्कृत हुए। 2002 में प्रकाशित अपने पहले कविता-संग्रह ‘जगत में मेला’ से चर्चित हुए। उनका दूसरा कविता-संग्रह ‘चौबारे पर एकालाप’ एक लंबे अंतराल के बाद 2018 में प्रकाशित हुआ। कविताओं के अलावे नाटक, समीक्षा, समसामयिक विमर्श और अनुवाद में भी योगदान किया है। उनका नाटक ‘अथ कथा’ शीर्षक से प्रकाशित है जिसका पाठ और प्रदर्शन कुछ मंचों से हुआ है। अनुवाद विधा में नोम चॉमस्की की रचना का अनुवाद ‘सत्ता के सामने’ शीर्षक से प्रकाशित हुआ है जबकि वोले शोएंका के नाटक ‘स्वैंप ड्वेलर्स’ का अनुवाद ‘दलदल के बाशिंदे’ शीर्षक से पहल पत्रिका में छपा है। इसके अतिरिक्त उन्होंने पंजाबी कविताओं के हिंदी अनुवाद में भी योगदान किया है। वह ब्लॉग लेखन में भी सक्रिय रहे हैं जहाँ ‘दयार’ ब्लॉग के माध्यम से पहाड़ी भाषा की रचनाओं का हिंदी और अँग्रेज़ी अनुवाद सामने लेकर आए हैं।

संबंधित टैग

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए