noImage

अब्दुर्रहमान 'प्रेमी'

1681 - 1741 | दिल्ली

रीतिकालीन नखशिख परंपरा के कवि।

रीतिकालीन नखशिख परंपरा के कवि।

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

जश्न-ए-रेख़्ता (2022) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

फ़्री पास यहाँ से प्राप्त कीजिए