जोधपुर के रचनाकार

कुल: 2

रीतिकाल की भक्त कवयित्री। कविता में परंपरागत आदर्श का निरूपण।

जोधपुर की महारानी। परिजनों की अकालमृत्यु के कारण असार संसार से विरक्त होकर कृष्ण-भक्ति में लीन हुईं और भक्ति के सरस पदों की रचना की।

बोलिए