कविता संग्रह

हिंदी की काव्य-परंपरा

से विभिन्न काव्य-विधाओं की रचनाओं का विशाल-संग्रह

1.2K
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

मुसलमान

देवी प्रसाद मिश्र

घर की याद

भवानीप्रसाद मिश्र

राम की शक्ति-पूजा

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

सरोज-स्मृति

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

सफ़ेद रात

आलोकधन्वा

चाँद का मुँह टेढ़ा है

गजानन माधव मुक्तिबोध

गोली दाग़ो पोस्टर

आलोकधन्वा

पतंग

संजय चतुर्वेदी

सतपुड़ा के जंगल

भवानीप्रसाद मिश्र

नई खेती

रमाशंकर यादव विद्रोही

मोचीराम

धूमिल

तोड़ती पत्थर

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

ब्रह्मराक्षस

गजानन माधव मुक्तिबोध

टूटी हुई, बिखरी हुई

शमशेर बहादुर सिंह

पहला चुंबन

अशोक वाजपेयी

बहनें

असद ज़ैदी

फ़र्क़

आलोकधन्वा

नदी

कृष्ण कल्पित

कपड़े के जूते

आलोकधन्वा

संगतकार

मंगलेश डबराल

हमने यह देखा

रघुवीर सहाय

ज़िलाधीश

आलोकधन्वा

अम्न का राग

शमशेर बहादुर सिंह

लोग भूल गए हैं

रघुवीर सहाय

नागार्जुन के बाँदा आने पर

केदारनाथ अग्रवाल

मरघट

रघुवीर सहाय

चुका भी हूँ मैं नहीं!

शमशेर बहादुर सिंह

एक नीला दरिया बरस रहा

शमशेर बहादुर सिंह

स्वच्छंद लेखक

रघुवीर सहाय

वह सलोना जिस्म

शमशेर बहादुर सिंह

उक्ति

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

लेकर सीधा नारा

शमशेर बहादुर सिंह

aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए