बुलंदशहर के रचनाकार

कुल: 11

समादृत उपन्यासकार और कथाकार। ऐतिहासिक प्रसंगों के प्रयोग के लिए उल्लेखनीय।

भक्तिकाल और रीतिकाल के संधि कवि। ऋतुवर्णन और ललित पदविन्यास के लिए प्रसिद्ध। शृंगार के अतिरिक्त भक्तिप्रेरित उद्गारों के लिए भी स्मरणीय।

सुप्रसिद्ध हास्य कवि।

सुपरिचित कथाकार। अनुवाद एवं गद्य की कई विधाओं में सक्रिय।

सुपरिचित कवि। 'हथेलियों का पुल' चर्चित कविता-संग्रह।

नई पीढ़ी के कवि।

नई पीढ़ी के कवि-गद्यकार। 'हिंदीनामा' के संस्थापक-संपादक।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक। दलित-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक। 'भीड़ के पार' और 'सोया हुआ शहर' शीर्षक से दो कविता-संग्रह प्रकाशित।

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए