Munshi Premchand's Photo'

प्रेमचंद

1880 - 1936 | लमही, उत्तर प्रदेश

हिंदी कहानी के पितामह और उपन्यास-सम्राट के रूप में समादृत। हिंदी साहित्य में आदर्शोन्मुख-यथार्थवाद के प्रणेता।

हिंदी कहानी के पितामह और उपन्यास-सम्राट के रूप में समादृत। हिंदी साहित्य में आदर्शोन्मुख-यथार्थवाद के प्रणेता।

प्रेमचंद की संपूर्ण रचनाएँ

कहानी 24

आलोचनात्मक लेखन 3

 

उद्धरण 50

पुरुष में थोड़ी-सी पशुता होती है, जिसे वह इरादा करके भी हटा नहीं सकता। वही पशुता उसे पुरुष बनाती है। विकास के क्रम में वह स्त्री से पीछे है। जिस दिन वह पूर्ण विकास को पहुँचेगा, वह भी स्त्री हो जाएगा।

  • शेयर

अतीत चाहे दु:खद ही क्यों हो, उसकी स्मृतियाँ मधुर होती हैं।

  • शेयर

धर्म का मुख्य स्तंभ भय है।

  • शेयर

जो अपने घर में ही सुधार कर सका हो, उसका दूसरों को सुधारने की चेष्टा करना बड़ी भारी धूर्तता है।

  • शेयर

स्त्रियों की कोमलता पुरुषों की काव्य-कल्पना है।

  • शेयर

पुस्तकें 50

वीडियो 8

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
Bade Bhai Sahab Introduction - Sparsh Chapter 10 | Class 10 Hindi (Course B)

प्रेमचंद

Cheetah on a balloon - गुब्बारे पर चीता class-4

प्रेमचंद

Class 11 Hindi Chapter 1 | Namak Ka Daroga Full Chapter Explanation and Question Answers

प्रेमचंद

Class 12 Hindi Antral Chapter 1 | Surdas Ki Jhopdi - Summary (2022 - 23)

प्रेमचंद

Class 6 Hindi Chapter 3 | Nadan Dost Class 6 Hindi | NCERT | CBSE | Kids Storyteller |

प्रेमचंद

Do Bailon Ki Katha - Kshitij 1 Chapter 1 | Class 9 Hindi Course A

प्रेमचंद

Idgaah - Full Chapter Explanation, NCERT Solutions and MCQs | Class 11 Hindi Chapter 1 | Antra

प्रेमचंद

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए